रविवार, 4 मार्च 2012

गर्व से कहो----------

 पागल हुए हो -----
गर्व से कहो
हम हिंदू ,
खालसा कहो |
इसाई , मुसलमान  भी
हो
गर्व से |
सब कुछ कहो
तुम शान से
पर ये ना कहना
इंसान हूँ मैं
शान से |

इतराते हो
किस बात पर
पैदा हुए
क्या पूछ कर
हिदू के घर में
या किसी मुस्लिम के घर में |

संजोग से
हिंदू बने
मुस्लिम बने
फिर गर्व कैसा ,
क्या किया ऐसा
बताओ तुम ज़रा |

कुछ बनो
या ना बनो
इंसान बन जाओ
नेकी करो
सच को पूजो
दीन की खातिर लडो |
परमात्मा
अपने अंतर में तलाशो
इंसान में
भगवान की
मूरत को घड लो
मज़हब
की खातिर
चाहे तुम लडो
या ना  लडो
पाप, अत्याचार से
हैवानियत से
भूख से
लड लो |

फिर गर्व
तुम पर
तुम नहीं
दुनिया करेगी |

राजीव
०३/०३.२०१२

अव्वल अल्लाह नूर उपाया
कुदरत के सब बंदे
एक नूर से
सब जग उपजया
कौन भले , कौन मन्दे |
श्री गुरु ग्रंथ साहब

 Are you crazy -----
Shouting  with pride
We Hindus---
Khalsa We|--
Christians, Muslims
We are----

Proudly |
 You Say Everything
But you never say
I am  a human first .
Very sad----

Tell me--
Was you born
 In Hindu's house
Or in the home of a Muslim |
At your own will--

By the way
Just tell me
Why feel proud
For being
a Hindu
 or a Muslim  .



Do something
Or  do nothing
Just be
 A good human being
Do good and
 Worship theTruth
Fight for the sake of  downtrodden ...
Search the God
in your inner self .
Serve human kind
To serve God.
And then
Not only you
But the whole world
Would feel proud of you.

Rajiv Jayaswal
03/03/2012


इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.